ourhindistory.in

 

पीएम नरेंद्र मोदी संघर्ष एवं सफलता की कहानी। PM Narendra Modi Struggle and Success Story

हम आपको आज बताएंगे कि किस तरह मोदी जी प्रधानमंत्री बने और उसके पीछे उनका कितना संघर्ष रहा और वह कौन सी गुणों और अच्छी आदतें है जो उन्होंने बुढापे के उम्र में भी साथ नहीं छोड़ा। और वह अभी भी जवान व्यक्ति की तरह स्वस्थ तंदुरुस्त रहते हैं उनमें अभी भी वह सब अच्छाइया देखने को मिलती है शायद उनके अच्छी आदतों के कारण ही आज देश के प्रधानमंत्री और एक अच्छे लीडर के रूप में जाने जाते हैं और इतने स्वस्थ एवं सफलता के उच्चायो पर हैं

इनकी कहानी सुनकर अपनी जिंदगी में कुछ बड़ा करने की सोच सकते हैं और उनकी अच्छाइयों को अपनाकर अपनी जिंदगी एक बेहतर तरीके से जी सकते हैं

Table of Contents

प्रधानमंत्री बनने से पहले

नरेंद्र मोदी गुजरात के रहने वाले हैं नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री बनने से पहले बहुत ही संघर्ष वाली जिंदगी व्यतीत की थी उन्होंने गरीबी के कारण अपने शिक्षा भी पूरी ना कर सकें पैसों की तंगी के चलते उन्होंने गुजरात के स्टेशन में चाय बेचा करते थे इसलिए लोग कहते हैं  कि चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री हैं . मोदी जी को बचपन से ही खतरों से खेलने का शौंक रहा है एक बार बचपन में मगरमच्छ पकड़ के अपने मां के सामने ले आए थे इनकी मां मगरमच्छ देखकर डर गई थी . नरेंद्र मोदी जी बचपन से ही नशीली चीजों  से दूर रहते हैं.  15 साल के थे तो घर छोड़ भाग गए थे और वहीं से उन्होंने अपनी जिंदगी की शुरुआत की।

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह की शुरुआत

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सुबह की शुरुआत आज भी सुबह 4:00 बजे उठ‌कर करते हैं और केवल 4 से 5 घंटे ही सोते हैं नरेंद्र मोदी जी का दिनचरिया सुबह 4 बजे से उठने‌ से लेकर सुबह उठकर योगा करने तक और भी जरूरी अन्य करते हैं अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए वह केवल स्वस्थ भोजन भी गृहण करते हैं और वह हमेशा गुनगुने पानी सेवन करते हैं वह अपने आपको शारीरिक और मानसिक दोनों तरीके से फिट रखते हैं कि वह ज्यादा से ज्यादा काम बिना थके कर सकें मोदी जी आज भी 15 घंटे काम करते हैं उनके मुकाबले अभी तक कोई जवान लड़का भी काम नहीं कर सकता इतना वे बूढ़ापा में कर पाते हैं यह सब उनकी इतना अनुशासन से रहने का परिणाम है

 प्रधानमंत्री बनने के बाद

नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री मरने के बाद भी अपनी मेहनती जीवन को नहीं छोड़े। अगर वह चाहे एस आराम वाले जिंदगी जी सकते हैं बाहर का खाना खा सकते हैं उनके पास इतना पैसा है कि दुनिया का हर आरामदायक चीज अपने जीवन में शामिल कर सकते हैं इस वक्त वह मेहनत ना भी करे तो भी उनका जीवन में कोई कष्ट नहीं होगा कोई तकलीफ नहीं आएगा लेकिन वह आज भी अपने मेहनत से पुरी दुनिया को हैरान करते हैं क्योंकि वह जानते हैं कि दुनिया उसी की कदर करती है जो मेहनती होता है नरेंद्र मोदी 64 की उम्र में भी 4:00 बजे सुबह उठते हैं योगा करते हैं स्वस्थ भोजन करते हैं और केवल 4 से 5 घंटे ही सोते हैं 15 घंटे काम करते हैं एक अच्छे नेता के रूप में देश को प्रस्तुत करते हैं देश के समस्याओं को हल निकालते हैं

एक नेता के रूप में

आप सभी जानते होंगे कि जब भी प्रधानमंत्री दूसरे देशों के प्रधानमंत्रियों के साथ उनकी की मीटिंग होती है तब वह एक दमदार नेतृत्व नेता के रूप में खड़े दिखते हैं उनका रवैया बहुत ही शानदार होते हैं उनका चलने का उनका बोलने का तरीका एक अच्छे नेता को दर्शाता है हमारे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रूप में बहुत ही आकर्षक दिखते हैं जिसके कारण उन्हें सब एक नेता के रूप में देखते हैं मोदी जी के बहुत समस्या आती होगी वे जिस पद पर है उस पद पर जाने के बाद बहुत से दुश्मन
उनके पीछे लग आम बात हैं बहुत सी समस्या आपके दुश्मन आपके द्वारा रची जाती है लेकिन उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी और उन्होंने सभी समस्याओं का डट कर सामना किया वह हमेशा आगे बढ़े की कोशिश में रहे उसी का नतीजा है कि आज भारत के प्रधानमंत्री पद पर हैं

मोदी जी की मेहनत और बीजेपी पार्टी का निर्माण

जिस बीजेपी पार्टी को आज से तकरिब 15 साल पहले दुनिया जानती भी नहीं थी उस बीजेपी पार्टी को चलाने वाले कोई और नहीं प्रधानमंत्री मोदी जी ने जिसने केवल 5 सालों में बीजेपी को इतना फेमस बना दिया कि आज दुनिया उन्हें एक मजबूत पार्टी के रूप में जानती‌ है मोदी जी शायद ही अपने कैरियर की शुरुआत में बीमार पड़े होंगे क्योंकि उन्हें कुछ कर दिखाने की जुनून इतनी है कि आज तक उन्होंने बीमारी को अपने निकट तक नहीं आने दी क्योंकि जिसके अंदर कुछ करने की आंख लगी होती है व्हाट इज माय कभी नहीं पड़ता अगर गलती से पर भी जाता है तो उस बीमारी को उसे देखने तक की फुर्सत नहीं मिलती तब कहीं जाकर दुनिया उसे सम्मान देती कुछ ऐसे ही है हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी‌ उन्होंने आज तक  उन्होंने कभी भी छुट्टी नहीं ली।  वह साल में 365 दिन काम करते हैं

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अच्छी आदतें और बातें

सुबह 4 बजे उठते है
आज भी 15 घंटे काम करते हैं
अपने आपको शारीरिक और मानसिक दोनों तरीके से फिट रखते हैं
वह केवल स्वस्थ भोजन भी गृहण करते हैं
वह सारे काम समय पर करते हैं
वह आज भी अपने मेहनत से पुरी दुनिया को हैरान
सुबह उठकर योगा भी करते हैं
नरेंद्र मोदी जी का रवैया, चाल, ढाल है वे अच्छे नेता के रूप में देखे जाते हैं
उनके पास हिम्मत और धैर्य दोनों है
नरेंद्र मोदी कभी भी नशीली चीजों को हाथ भी नहीं लगाते

 आप क्या-क्या सीख सकते हैं

अच्छी आदत ही हमें ऊंचाइयों के स्तर पर ले जाती है आप अपनी जिंदगी में अच्छी आदत शामिल कर बड़े से बड़े उपलब्धि हासिल कर सकते हैं
मोदी जी से आप यह भी सीख सकते हैं कि किसी भी काम को करने के लिए जुनून होना चाहिए जिस तरह से उन्होंने बीजेपी ‌पार्टी को 5 सालों में खड़ा करने के लिए जि- जान लगा दी अपने आप को बीमार होने का  फुर्सत तक नहीं दिया ‌। और वह व्यक्ति साल का 365 दिन काम करते हैं 1 दिन भी छुट्टी नहीं करते हैं वह व्यक्ति जीवन में आगे क्यों नहीं बढ़ सकता है
जिस तरह की नरेंद्र मोदी अपना शारीरिक और मानसिक को स्वस्थ रखने के लिए सुबह उठते हैं मोदी जी कभी भी नशीली चीजों को हाथ भी नहीं लगाते. जैसे- बीड़ी, सिगरेट, गुटका ,शराब आदि । और ध्ध्यान करते हैं योगा करते हैं गुनगुने पानी का सेवन करते हैं हमेशा स्वस्थ भोजन ही लेते हैं इससे वह बहुत लंबे समय तक अपना काम कर पाते हैं और अपनी सफलता को ओर उन्नति करते हैं इसी तरह आप भी अपने जीवन में इन अच्छाइयों को शामिल करें और जीवन में उपलब्धियां हासिल करें
हमेशा प्रधानमंत्री को आपने अनुशासन में देखा होगा वह कभी भी अपने आप को अनुशासन से बाहर नहीं रखते यह उसी का कारण है जिससे वह बड़े से बड़े फैसले को आसानी से ले पाते हैं और उस पर अपने विजय भी कर लेते हैं जीवन में बड़ा फैसला लेने से ही बड़े-बड़े काम कर पाते हैं उसी तरह आपको भी अपने जीवन का बड़े-बड़े फैसला लेने से हिचकिचाना नहीं चाहिए एक फैसला इंसान की जिंदगी बदल देती है आप भी अपने जीवन में बड़े से बड़े फैसले ले
जिस तरीके से नरेंद्र मोदी जी का रवैया, चाल, ढाल है वे अच्छे नेता के रूप में देखे जाते हैं उसके लिए वह कडी  मेहनत करते हैं इस तरीके से आप भी अपने रवैया अपना चाल ढाल ठीक कर के एक अच्छे नेता के रूप में अपने आप को प्रस्तुत कर सकते हैं
इतना सफल होने के बावजूद भी आज भी मोदी जी
अपने माता के चरण हमेशा स्पष्ट करते हैं यदि कोई बड़ा कार्य करने जाते हैं तो अपने मां का आशीर्वाद अवश्य लेते हैं नरेंद्र मोदी स्वामी जी विवेक विवेकानंद अभी भी अपने आदर्श मानते हैं