ourhindistory.in

 

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना बिहार 2022 आवेदन प्रक्रिया फॉर्म

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना बिहार 2021 ऑनलाइन अप्लाई पोर्टल फॉर्म पीडीएफ़ लाभार्थी स्टेटस, एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड (Bihar Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana In Hindi) Eligibility Criteria, Registration Process Form, Student list

Table of Contents

 बिहार सरकार ने अपने राज्य के बेटीयों के लिए एक नई योजना की घोषणा की है और इसे मंजूरी भी प्राप्त हो चुकी है और इस योजना का नाम मुख्यमंत्री कन्या उत्थान दिया या गया है इस योजना के कारण बिहार राज्य के बेटीयां ना केवल सुरक्षित बल्कि एक अच्छी शिक्षा भी प्राप्त कर सकती है जिससे वे अपने उज्जवल भविष्य बना सके एवं अच्छे जीवन व्यतीत कर सकेगी।

इस योजना से संबंधित सारी जानकारी हम आपको निचे लिखे गए आर्टिकल के द्वारा बताएंगे

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना बिहार 2022

इस योजना को बिहार सरकार ने इसी साल अप्रैल के महीने में अपनी मंजूरी दी है और इस योजना को इसी साल यानी 2018 के अप्रैल महीने के अंत कर शुरु कर दिया जाएगा. मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना को बिहार राज्य के हर जिले और गांव में लोंच किया जाएगा.

योजना का नाम

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना

अन्य नाम

मुख्यमंत्री बालिका (स्नातक) प्रोत्साहन योजना

 मुख्यमंत्री बालिका (माध्यमिक+2) प्रोत्साहन योजना

ये योजना शुरू कब होगी

अप्रैल के महीने के अंत

किस राज्य द्वारा शुरू की गई ये योजना               

                बिहार

कौन उठा सकेगा लाभ

लड़कियां

लड़कियों को कब तक मिलेगा योजना का लाभ

जन्म होने से लेकर स्नातक हासिल करने तक

कुल कितनी राशि लड़कियों मिलेगी

54100

कितनी लड़कियों को लाभ होगा

1.60 करोड़ लड़कियों को होगा लाभ

पोर्टल

edudbt.bih.nic.in

योजना का बजट (Budget)

बिहार सरकार के द्वारा वर्तमान में बिहार राज्य की बेटियों के पढ़ाई के खर्च के लिए शिक्षा पर प्रति वर्ष 840 करोड़ उपयोग का खर्च करती है और मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना लागू करने पर बिहार सरकार को बेटियों के शिक्षा पर प्रति वर्ष 1400 करोड़ रुपए का खर्च आएगा और इस प्रकार बिहार राज्य बेटियों के शिक्षा का प्रति वर्ष कुल 2221 करोड़ रुपए खर्च होगा जिससे बिहार राज्य की बेटियां का उज्जवल भविष्य और उनका जीवन अच्छे से व्यतीत होगा।

इस योजना का उद्देश्य क्या है (Objectives of Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana in hindi)

इस योजना को लागू करने बिहार राज्य सरकार का कई उद्देश्य है इसके पीछे का उद्देश्यों को निचे बताए गए हैं

राज्य की लड़कियों को शिक्षित बनाना (Education) –

इस योजना का मुख्य उद्देश्य बिहार राज्य बेटियां को शिक्षित करना है दरअसल बात यह है कि अन्य राज्य के मुकाबले बिहार बेटियों का शिक्षा व्यवस्था बहुत ही खराब और पीछे है इसलिए इस समस्या पर ध्यान देते हुए बिहार राज्य सरकार के द्वारा करोड़ों रुपए भी खर्च की जा रही है ताकि उनके राज्य का शिक्षा व्यवस्था ठीक हो सके। जिसकी उनकी राज्य की बेटियां शिक्षा ग्रहण करें अपना उज्जवल भविष्य बना सके और एक बेहतरीन जीवन जी सकें इसलिए सरकार इस योजना के माध्यम से राज्य के शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाया जाएगा

लिंग अनुपात में बढ़ोतरी करना (Increase In Sex Ratio) –

बिहार राज्य में लड़कों के मुकाबले लड़कियों की संख्या बहुत कम है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अक्सर केई राज्यों में देखा गया है कि बेटीयो के जन्म से पहले ही उन्हें मार दिया जाता है नहीं तो जन्म लेने के बाद बेटीयो को पैदा होना कुछ लोगों को भुल लगती है उनको बेटीयो को शिक्षा पालन- पोषण का खर्चा उठाने में उन्हें बहुत ही ज्यादा तकलीफ होती है इसलिए बेटियों को मार दिया जाता है कोई गरीबी और परेशानी के कारण ऐसा करता है नहीं तो किसी की सोच छोटी होने के कारण लेकिन दोनों तरीके से ये लोग गलत करते हैं के द्वारा सरकार सभी माता-पिता के बेटीयो के लिए साभी मुख्य रूप से सहायता पहुंचा रही है आंखें बेटियां पर होने वाला जुल्म बंद हो सके।

बाल विवाह को रोकना (Abolishing Child Marriage) –

 इस योजना के केई उद्देश्यों में से एक उद्देश्य यह भी है कि बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार ने उन्ही लोगों को योजना का लाभार्थी बनाया है योजना के अंतर्गत 12 वी कक्षा की उन्ही लड़कियों को पैसे मिलेंगे जो कि शादीशुदा नहीं होगी  सरकार के द्वारा यह नियम केवल बाल विवाह को रोकने के लिए बनाया गया है

पात्रता की कसौटी (Eligibility Criteria)

इस योजना का लाभ उठाने केवल बिहार राज्य के लड़कियों ही उठा सकती है अन्य राज्यों की लड़कियां इसका लाभ नहीं उठा सकती है जो लड़कियां इसका लाभ उठा सकती है उसके परिवार से केवल दो लड़कियों को ही लाभ प्राप्त होगा। यानी कि एक परिवार की दो से अधिक लड़की है तो इस योजना के तहत मिलने वाली राशि केवल दो लड़कियों को ही दी जाएगी।

बिहार सरकार की मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना बिहार राज्य के सभी लड़कियों के लिए जारी किया गया इसमें कोई जाति का भेदभाव नहीं किया जाएगा चाहे वह कोई भी जाति या धर्म का हो योजना से हर जाति, धर्म और वर्ग  सभी को समान रुप से इसका लाभ मिलेगा

योजना के तहत लड़कियों को मिलने वाली राशि (Amount Details)

 बिहार सरकार की ओर से  प्रत्येक लड़कियों को कुल 54100 रुपए दिया जाएगा  सरकार के अनुसार लड़कियों को जन्म से लेकर स्नातक हासिल कर दें तक का जितना खर्चा होगा उसमें उनकी सरकार सहायता करेंगी इसमें से कुल खर्च प्रत्येक लड़की का 54100 आएगा लेकिन ये सब खर्च की राशि सरकार के द्वारा एक बार में नहीं दिया जाएगा अलग अलग करके दिया जाएगा उसे जाने के लिए नीचे दिए गए

 जन्म के समय दिए जाएंगे कुल 5000 हजार रुपए

बिहार राज्य में अगर कोई लड़की जन्म लेती है तो  सरकार के द्वारा 5000 रुपए उसके माता-पिता को दिये जाएंगे इस राशि को तीन चरणों में उसके माता पिता को दिया जाएगा। पहले चरण के तहत जब लड़की पैदा होगी तब सरकार के द्वारा लड़की के माता-पिता के बैंक ‌अकाउंट में 2000 रूपए दे दिया जाएगा

दूसरे चरण में जब लड़की पैदा होने के बाद वह एक साल की हो जाएगी सरकार के द्वारा उसे 1000 रूपए और दिए जाएंगे हालांकि इस पैसे को पाने के लिए पहले लड़की का आधार कार्ड को इस कार्ड योजना में लिंक करना होगा तभी 1000 रूपए मिलेगी

तीसरे चरण में जब लड़की को टीकाकरण करवाया जाएगा तो उसे 2000 रुपए और भी दिए जाएंगे इस तरह से जन्म होने के बाद 5000 रुपए की राशि सरकार के द्वारा दी जाएगी

संख्या

कब पैसे मिलेंगे

कितने पैसे मिलेंगे

1         

बच्ची के जन्म होने       

2000 रुपए दिए जाएंगे

2

एक वर्ष का होने पर

1000 रुपए दिए जाएंगे

3

बच्ची का टीकाकरण होने पर

2000 रुपए दिए जाएंगे

4

12 क्लास पास करने पर

10000 रुपए दिए जाएंगे

5

स्नातक डिग्री हासिल करने पर

25000 रुपए दिए जाएगें

शिक्षा के लिए दिए जाएंगे 35000 रुपए-12 वीं कक्षा को पास करने वाली लड़की को मिलेंगे (10,000 On Passing Intermediate examination)

 अगर बिहार राज्य के लड़की 12 वीं कक्षा के परीक्षा को पास करती है तो उसे सरकार के द्वारा 10000 रुपए दिया जाएगा लेकिन वह लड़की अविवाहित होनी चाहिए अगर कोई शादीशुदा लड़की 12 वीं कक्षा को पास है तो उसे इस योजना का कोई लाभ नहीं मिलेगा यह नियम सरकार के द्वारा इसलिए बनाई गई है ताकि होने वाले बाल विवाह को रोका जाए

स्नातक की डिग्री प्राप्त करने वाली की राशि 25 हजार (25,000, After Graduation)

 अगर कोई कन्या स्नातक टिकरी प्राप्त करती है तो सरकार के द्वारा उसे 25000 रुपए की राशि दी जाएगी वहीं अगर स्नातक डिग्री प्राप्त करने वाली लड़की शादीशुदा होती है तो उसे भी जाने वाली राशि मिलेगी

सैनेटरी नैपकिन के लिए अब दिया जाएगा 300 सौं रुपए- 

 बिहार सरकार के द्वारा अपने राज्य के लड़कियों के लिए सैनेटरी नैपकिन लेने के लिए मात्र 150 दिए जाते थे लेकिन इसे वर्तमान में बढ़ाकर डबल कर दिया गया है यानी कि सरकार द्वारा सैनेटरी नैपकिन लेने के लिए 300 रुपए दिए जाएंगे. इसके अलावा लड़कियों को कक्षा एक से लेकर कक्षा 12 तक दिए जाने वाली यूनिफर्म की राशि में भी सरकार ने वृद्धि की है जो कि इस प्रकार है.

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना बिहार राज्य की हर लड़कियां इस योजना से लाभ उठाकर अपने जीवन को बेहतर कर सकेगी और अपनी शिक्षा पूरी कर सकेगी कल से की आने वाले अपने जिंवन की समस्याओं को अच्छे से सामना कर पाएगी और अपने जीवन को सम्मान से जियेगी. जिससे वे अपने भविष्य उज्जवल बना सके और अपने राज्य का नाम ऊंचा कर सकेंगी।

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया एवं फॉर्म पीडीएफ़ डाउनलोड

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के लिए ऑनलाइन एप्लीकेशन प्रोसीजर शुरू कर दी गई है  इस योजना के अंतर्गत पंजीयन कार्य शुरू कर दिया गया है जिसके लिए कन्या उत्थान योजना पोर्टल पर लॉग इन कर रजिस्ट्रेशन करने के बाद बालिका आवेदन फॉर्म भर सकती है फॉर्म अच्छे से भरने के बाद शिक्षा विभाग द्वारा डॉक्यूमेंट का सत्यापन किया जाएगा और बालिका द्वारा दिये गये मोबाइल नंबर पर मेसेज के द्वारा सभी जानकारी को सूचित किया जाएगा

बिहार सरकार के मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के अंतर्गत लाभार्थियों के चयन प्रक्रिया को शुरू कर दी गई है जिसमें इंटरमीडिएट चयनित छात्राओं को सरकार के द्वारा 10000 रुपए की राशि पुरस्कार स्वरूप दी जाएगी और जो छात्रा स्नातक डिग्री प्राप्त कर लेगी उसे सरकार के द्वारा दी जाने वाली राशि 25000 रुपए मिलेगा और यह राशि कन्या के विवाह हो जाने के पश्चात् भी उसे दी जाएगी लाभार्थियों के चयन के बाद ईनाम कि राशि डायरेक्ट लाभार्थी के बैंक अकाउंट में जुलाई तक ट्रान्सफर कर दी जाएगी.

इस योजना के लिए सरकार ने अगस्त तक 2000 छात्राओं के चयन का टारगेट रखा था, जिसे उन्होंने पूरा करते हुए छात्राओं को लाभ पहुँचाने की तयारी कर ली है