ourhindistory.in

 

सुंदर पिचाई संघर्ष एवं सफलता की कहानी।Sundar Pichai struggle and Success Story.

 सुंदर पिचाई का जीवन गाथा सुनकर आप लोगों को किसी भी काम को एगृता से किस तरीके से किया जाता है वह उनसे सीखने को मिलेगा उनके बारे में जानकर आपको यकीन होगा कि इतनी मेहनत करने के बाद सफलता दूर रही नहीं सकता। सुंदर पिचाई आज दुनिया के सबसे अमीर तनख्वाह लेने वाले व्यक्ति हैं जिन्होंने इंडियन होने के बाद भी पूरा दुनिया में नाम कमाया। आज भी उनके जैसा और किसी सीईओ की तनख्वाह नहीं है उन्हें व्हाट्सएप फेस सुविधाएं मिली हुई है जो दुनिया में बहुत ही कम लोगों को प्राप्त है  भारत में सुंदर पिचाई को इतने चाहने वाले हैं कि जब वह भारत आते हैं तो उन्हें से मिलने को लाखों-करोड़ों लोग भीड़ इकट्ठा हो जाती हैं शायद ही किसी सेमिनार में होती होगी। पूरी दुनिया उन्हें सम्मान देती है आज भी वह एक साधारण व्यक्ति की तरह अपना जीवन व्यतीत करते हैं इनके पास तनिक भी घमंड नहीं है

Table of Contents

सफलता से पहले समस्या

सुंदर पिचाई एक गरीब परिवार में जन्म लेने के कारण इन्हें पैसे का बहुत से समस्याओं का सामना करना उसके वजह से उन्हें पढ़ाई भी करने में समस्या हुई स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से स्कॉलरशिप मिले आसिफ को फोन आया की हम आपका पढ़ने लिखने खाना-पीना रहने का सारा खर्चा उठाएंगे बस आपको टिकट और आने का खर्च का इंतजाम खुद के पैसों से करना होगा लेकिन सुंदर पिचाई के पास इतने पैसे थे नहीं कि वह जहाज के टिकट खरीद सकें लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और जिस ऑफिस में काम करते थे वहां जाकर उन्होंने 1 साल की सैलरी को अपने एक टिकट खरीदने में लगाकर उन्होंने जीवन में रिस्क लिया और वह स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी चले गए और क्या कर पढ़ाई पुरी की।

सुंदर पिचाई ने गूगल में कौन-कौन से प्रोडक्ट बनाया (Which products did Sundar Pichai make in Google?)

 गूगल मैप (Google map) – एक बार सुंदर पिचाई के दोस्त सुंदर और उनकी पत्नी को खाने पर बुलाया था लेकिन सुंदर पिचाई रास्ता भटकने के कारण 2 घंटा लेट हो गए देर से पहुंचे अपने दोस्त के पास पहुंचने से पहले उनकी बीवी वहां से जा चुकी थी सुंदर पिचाई उस दिन देर होने के कारण खाना भी नहीं खाए थे वह अपने घर गए वहां बीवी ने उन्हें बहुत डांट सुनाया और घर से निकाल दिया वह ऑफिस में चले गए और वहां पर भूखे पेट और परेशान होकर सोचने लगे तभी उनके मन में एक आईडिया आया कि क्यों ना गूगल में रोड मैप का सिस्टम डाला जाए जिससे कोई भी स्थान पर बहुत आसानी से जा सके और कोई भी भटक ना सके और उन्होंने सब को बुला कर 2 दिन तक मीटिंग चला और आखिर कार उन्होंने एक ऐसा गूगल में मैप बनाई डाला । जिससे कि हमें किसी भी स्थान में जाने के लिए हमें सुझाव करता है
गूगल लेंस(Google lens)– एक बार इनकी बेटी फुल के बगीचे में खेल रही थी और सुंदर पिचाई वहां टेबल पर बैठकर काम कर रहे थे तभी उनके बेटे ने एक हाथ में फूल लाकर उसने पापा से पूछा कि इस फूल का नाम क्या है उन्हें सुंदर पिचाई उस फूल का नाम बताने में असमर्थ रहे बेटी ने दूसरा फुला के कौन से स्कूल का नाम पूछा सुंदर पिचाई दूसरी बार भी जवाब देने में असमर्थ रहे फिर क्या उनकी बेटी ने सुंदर पिचाई को खरी खोटी सुना दी बोलने लगी आग आप कहने को तो गूगल के सी ई ओ हो बहुत बड़े इंजीनियर हो लेकिन आपको इस मामूली से फूलों का नाम भी नहीं पता सुंदर पिचाई को शर्म से आंखें झुक गई फिर उन्होंने एक आइडिया सोचा कि क्यों ना एक गूगल लेंस को बनाया जाए जिससे इस फूल को स्कैन करने के बाद उसके बारे में पूरी जानकारी मिल जाए इसका नाम क्या है यह कहां पाया जाता है इसे हम किस तरीके से खरीद सकते हैं इस सारी जानकारी तभी उन्होंने टीम बुलाकर इसके ऊपर काम किया और कठिन मेहनत के बाद वह सफल रहे।

 इन्होंने बनाया गुगल प्रोडक्ट ( goggle products)

Google Drive, Google Docs ,Android ,Gmail ,Google ,News Blogger ,Google Cloud , Classroom,Google Search etc सुंदर पिचाई जितने भी गुगल प्रोडक्ट बनाए सभी संघर्ष से जुड़े हुए हैं सभी प्रोडक्ट उनका संघर्ष की निशानी है अरे यह प्रोजेक्ट या दर्शाता है कि वे जीवन में कभी रुके नहीं और आगे बढ़ते रहे।

उनका टैलेंट

क्या सुंदर पिचाई गूगल में काम करते थे तभी कुछ दिनों से माइक्रोसॉफ्ट वाले सुंदर पिचाई के ऊपर नजर रख रहे थे और सुंदर पिचाई को अपने ऑफिस में बुलाकर उससे माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के सीईओ बनाने का प्रस्ताव रखा सुंदर पिचाई गूगल के पास गये मुझे कहीं और से इससे भी परम पद का प्रस्ताव आया है तो मुझे जाने का इजाजत दीजिए गूगल गूगल के मालिक ने सोचा कि यह झूठ बोल रहा है अपना सैलरी भरवाने के चक्कर में। तभी गूगल के मालिक वोटिंग करवाया कि यह फैसला हो सकता कि गूगल को सुंदर पिचाई कितनी जरूरत है जब परिणाम सामने आया तो 99.9 लोगों ने सुंदर पिचाई को वोट दिया और लोगों ने यह भी बताया कि सुंदर पिचाई के बिना गूगल चल नहीं सकता। यह सब सुनकर गूगल के मालिक सुंदर पिचाई को गूगल के सीईओ बना दिया और बोनस के रूप में करोड़ों रुपए दिऐ

 सीखने वाली बातें

 सुंदर पिचाई दुनिया के सबसे अमीर तनख्वाह लेने वाले व्यक्ति हैं क्योंकि उन्होंने जीवन में कभी भी हिम्मत नहीं हारी और हमेशा कमजोर को अपनी ताकत बना कर काम किया है जीवन में उन्होंने भी कितनी बार का सामना किया लेकिन फिर भी उन्होंने उस देखो के बारे में ना सोच कर अपने आइडिया के ऊपर काम किया जिससे कि आज वह इस मुकाम तक पहुंचे आप भी अपने जीवन में कोई भी समस्या आती है तो उससे भागने के बजाय उसका डटकर सामना करना चाहिए तभी आप अपनी जिंदगी में सफल हो सकत हो।
 सुंदर पिचाई इतने सफलता हासिल करने के बाद भी मन में तनिक भी घमंड नहीं है वह एक साधारण जीवन जीते हैं आपको देखने के लिए गाड़ी से उतर कर ही चलना पसंद करते हैं आज भी सुंदर पिचाई रात-रात या कई दिनों तक अपना काम को करते रहते हैं आप उनसे यह सब भी बातें सीख सकते हैं सफल व्यक्ति बनने का यह मतलब नहीं है कि घमंड आ जाना आप जीवन में चाहे जितना भी सफल हो जाओ आपके अंदर घमंड को नहीं लाना चाहिए
सुंदर पिचाई हमेशा दुनिया से हटकर सोचते हैं हमेशा दूसरे से आगे की सोचते हैं वह हमेशा आधुनिक काम पर काम करते हैं जो काम पूरी दुनिया को दिया संभव होता है उसे सुंदर पिचाई अपने कड़ी मेहनत से संभव में बदन  लेते हैं वे अपने जीवन को कभी भी आरामदायक में नहीं रखते हैं वह हमेशा भविष्य के बारे में सोचते हैं इसलिए वह अपने प्रतिवाद से आगे रहते हैं इसलिए वह दुनिया के सबसे अमीर तनख्वाह लेने वाले व्यक्ति हैं और उनका सम्मान पूरे दुनिया में है इस तरीके से आप भी रखोगे तो आपको कोई हरा नहीं सकता चाहे आपका विरोध में कोई भी हो।